Take a fresh look at your lifestyle.

Niklo Na Benakab Jamana Kharab Hai Lyrics

0 578

Niklo Na Benakab Jamana

Romantic Ghazal song from the album Ishq Nachaye starring Pankaj Udhas. The album was released in the year 1986. Music was composed by N/A and lyrics were penned by N/A.

Movie Details

Movie/Album: Ishq Nachaye

Singer/Singers: Pankaj Udhas

Music Director: N/A

Lyricist: N/A

Actors/Actresses: Pankaj Udhas

Year/Decade: 1986

Music Label: Universal Music Group

Song Lyrics in English Text

Beparda Najar Ayi Jo Kal Chand Biwiya
Akbar Jamin Me Gairat Koni Se Gad Gaya
Pucha Jo Maine Apka Parda Wo Kya Hua
Kehne Lagi Ke Akal Pe Mardo Ke Pad Gaya

Niklo Na Benakab
Niklo Na Benakab Jamana Kharab Hai
Niklo Na Benakab Jamana Kharab Hai
Aur Uspe Ye Shabab Jamana Kharab Hai

Sab Kuch Hame Khabar Hai Nasihat Na Kijiye
Sab Kuch Hame Khabar Hai Nasihat Na Kijiye
Sab Kuch Hame Khabar Hai Nasihat Na Kijiye
Sab Kuch Hame Khabar Hai Nasihat Na Kijiye
Kya Honge Ham Kharab Jamana Kharab Hai
Niklo Na Benakab Jamana Kharab Hai

Rashid Tum Aa Gaye Ho Na Akhir Fareb Me
Rashid Tum Aa Gaye Ho Na Akhir Fareb Me
Rashid Tum Aa Gaye Ho Na Akhir Fareb Me
Rashid Tum Aa Gaye Ho Na Akhir Fareb Me
Kehte Na The Janab Jamana Kharab Hai
Niklo Na Benakab Jamana Kharab Hai
Jamana Kharab Hai Jamana Kharab Hai
Jamana Kharab Hai

Song Lyrics in Hindi Font/Text

बे परदा नज़र आयी जो कल चंद बीवीया
अकबर जमीन में ग़ैरत कोनी से गड़ गया
पूछा जो मैने, “आपका परदा वो क्या हुआ?”
कहने लगी के, “अक्ल पे मर्दों के पड़ गया”

निकालो ना बेनक़ाब…
निकलो ना बेनक़ाब ज़माना ख़राब है
निकलो ना बेनक़ाब ज़माना ख़राब है
और उसपे ये शबाब ज़माना ख़राब है
निकलो ना बेनक़ाब ज़माना ख़राब है

सब कुछ हमें ख़बर है नसीहत ना किजीए
सब कुछ हमें ख़बर है नसीहत ना किजीए
सब कुछ हमें ख़बर है नसीहत ना किजीए
सब कुछ हमें ख़बर है नसीहत ना किजीए
क्या होंगे हम ख़राब ज़माना ख़राब है
क्या होंगे हम ख़राब ज़माना ख़राब है
और उसपे ये शबाब ज़माना ख़राब है

निकलो ना बेनक़ाब ज़माना ख़राब है
मतलब छुपा हुआ है यहाँ हर सवाल में
मतलब छुपा हुआ है यहाँ हर सवाल में
मतलब छुपा हुआ है यहाँ हर सवाल में
मतलब छुपा हुआ है यहाँ हर सवाल में
दो सोचकर जवाब ज़माना ख़राब है
दो सोचकर जवाब ज़माना ख़राब है
और उसपे ये शबाब ज़माना ख़राब है
निकलो ना बेनक़ाब ज़माना ख़राब है

राशिद तुम आ गए हो ना आख़िर फरेब में?
राशिद तुम आ गए हो ना आख़िर फरेब में?
राशिद तुम आ गए हो ना आख़िर फरेब में?
राशिद तुम आ गए हो ना आख़िर फरेब में?
कहते ना थे जनाब ज़माना ख़राब है
कहते ना थे जनाब ज़माना ख़राब है
और उसपे ये शबाब ज़माना ख़राब है
निकलो ना बेनक़ाब ज़माना ख़राब है
और उसपे ये शबाब ज़माना ख़राब है

निकलो ना बेनक़ाब ज़माना ख़राब है
ज़माना ख़राब है, ज़माना ख़राब है
ज़माना ख़राब है, ज़माना ख़राब है
ज़माना ख़राब है

Leave A Reply

Your email address will not be published.