Take a fresh look at your lifestyle.

Vardaan वरदान Song Lyrics – Carry Minati

0 134

Vardaan Song Lyrics by CarryMinati. This song is sung by CarryMinati and the it was released in the year 2021. Music was composed by Dhruv Sachdeva , Clifford Afonso and lyrics were penned by CarryMinati .

Movie Details

Singer/Singers: CarryMinati

Music Director: Dhruv Sachdeva , Clifford Afonso

Lyricist: CarryMinati

Year/Decade: 2021

Music Label: CarryMinati

Song Lyrics in English Text

Sashakt bakse mein band
Pade pade laga uspe jang aur gandh
Kabhi kabhi karta hai mann
Karlun usi bakse mein khud ko band

Ghisat ghisat ke ladd
Jaise tu koyi tooti patang
Seh le tu dard kyun ki kabhi
Na hogi khatam ye jung

Gharwalon se aati sharam kehne mein
Jo mujhe hai ban’na
Jab tak deta na saboot toh kaise bolun
Haan yahin hai shuru se mujhe karna

Raaste jo paas thhe kab aayenge saamne
Jitna picha karoge utne badhege faansle
Sapno ke liye saans le sapno ke liye jaan de
Kaise hai karna bas yahi na jante

Pakdo mera hath kudo tum unchayi se
Jayenge niche nahi aur bhi unchayi pe
Jahan pe jeet ki pukaar bhi sunayi de
Is baat ki meri poori zindagi gawahi de

Pakdo mera hath kudo tum unchayi se
Jayenge niche nahi aur bhi unchayi pe
Jahan pe jeet ki pukaar bhi sunayi de
Is baat ki meri poori zindagi gawahi de

Niche mat dekhna piche mat mudna
Chillate log zinda ya murda
Zara soch kabhi tu bhi wahin tha
Par tujhme thi veerta haan tu hi sahi tha

Sabmein jalti hai aag
Jise aksar bujhne dete hai hum
Ant mein bachti hai rakh
Jo karti himmat aur bhi kam

Karni hai poori apni khuraak
Lagega sirf ek hi janam
Lapte uthengi rakh se
Bas rakhna hai aage kadam

Padenge piche log aur marenge taane
Unki mat sun yeh bukhe bechare
Jane anjane yeh bas khate hai daane
Ye log khud ko na pehchane
Toh socho kaise aayenge humein bachane

Nakamyabi ka jab badhta hai andhera
Nahi samjhte sab aur lagta hai akela
Tab bhulo na kya kya tumne jhela
Kyun ki aata hai andhera taaki aa sake sawera

Pakdo mera hath kudo tum unchayi se
Jayenge niche nahi aur bhi unchayi pe
Jahan pe jeet ki pukaar bhi sunayi de
Is baat ki meri poori zindagi gawahi de

Pakdo mera hath kudo tum unchayi se
Jayenge niche nahi aur bhi unchayi pe
Jahan pe jeet ki pukaar bhi sunayi de
Is baat ki meri poori zindagi gawahi de

Ban’na nahi legend banani bas apni jagah
Dena nahi 100% 200 tu power laga
Qismat ko bhool, bhool mat apni wajah
Lagi hai chot vardaan hai na koyi saza

Song Lyrics in Hindi Text

सशक्त बक्से में बंद
पड़े पड़े लगा उसपे जंग और गंध
कभी कभी करता है मन कर लूँ
उसी बक्से में खुद को बंद

घिसट घिसट के लड़ जैसे तू
कोई टूटी पतंग

सह ले तू दर्द क्योंकि कभी
ना होगी ख़तम ये जंग

घरवालों से आती शरम कहने में
जो मुझे है बनना
जब तक देता ना सबूत तो कैसे बोलूं
हाँ, यही था शुरू से मुझे करना

रास्ते जो पास थे कब आएंगे सामने
जितना पीछा करोगे उतने बढ़ेंगे फासले
सपनो के लिए साँस लें सपनो के लिए जान दे
कैसे है करना बस यही ना जानते

पकड़ो मेरा हाथ कूदो तुम ऊंचाई से
जायेंगे नीचे नहीं और भी ऊंचाई पे
जहाँ पे जीत की पुकार भी सुनाई दे
इस बात की मेरी पूरी ज़िन्दगी गवाही दे

पकड़ो मेरा हाथ कूदो तुम ऊंचाई से
जायेंगे नीचे नहीं और भी ऊंचाई पे
जहाँ पे जीत की पुकार भी सुनाई दे
इस बात की मेरी पूरी ज़िन्दगी गवाही दे

नीचे मत देखना पीछे मत मुड़ना
चिल्लाते लोग ज़िंदा या मुर्दा
जरा सोच कभी तू भी वहीं था
पर तुझमे थी वीरता हाँ तू ही सही था

सब में जलती है आग जिसे
अक्सर बुझने देते हैं हम
अंत में बचती है राख
जो करती हिम्मत और भी कम

करनी है पूरी अपनी खुराक
लगेगा सिर्फ एक ही जनम
लपटें उठेंगी राख से
बस रखना है आगे कदम

पड़ेंगे पीछे लोग और मारेंगे ताने
उनकी मत सुन ये भूखे बेचारे
जाने अनजाने बस ये खाते हैं दाने
ये लोग खुद को ना पहचाने
तो सोच कैसे आएंगे हमे बचाने

नाकामयाबी का जब बढ़ता है अंधेरा
नहीं समझते सफ़र लगता है अकेला
तब भूलो ना क्या क्या तुमने झेला
क्योंकि आता है अँधेरा ताकि आ सके सवेरा

पकड़ो मेरा हाथ कूदो तुम ऊंचाई से
जायेंगे नीचे नहीं और भी ऊंचाई पे
जहाँ पे जीत की पुकार भी सुनाई दे
इस बात की मेरी पूरी ज़िन्दगी गवाही दे

पकड़ो मेरा हाथ कूदो तुम ऊंचाई से
जायेंगे नीचे नहीं और भी ऊंचाई पे
जहाँ पे जीत की पुकार भी सुनाई दे
इस बात की मेरी पूरी ज़िन्दगी गवाही दे

बनना नहीं लीजेंड बनानी बस अपनी जगह
देना नहीं सौ परसेंट दो सौ तू पावर लगा
किस्मत को भूल, भूल मत अपनी वज़ह
लगी है चोट वरदान है ना कोई सज़ा

Leave A Reply

Your email address will not be published.