Take a fresh look at your lifestyle.

Umeed Ki Koi Shama Jalti Nahi Lyrics

0 260

Umeed Ki Koi Shama Jalti Nahi Lyrics

Song Lyrics from the album Bewafa Sanam Vol. 1 (Album) starring. The film was released in the year 1995. Music was composed by Nikhil and lyrics were penned by Attaullah Khan.

Movie Details

Movie: Bewafa Sanam Vol. 1 (Album)

Singer/Singers:

Music Director:

Lyricist:

Actors/Actresses:

Year/Decade: 1995

Music Label: T-Series

Song Lyrics in English Text

Ummid Ki Koi Shama Jalti Nahi
Kyun Raat Ye Gam Ki Mere Dhalti Nahi
Ummid Ki Koi Shama Jalti Nahi
Kyun Raat Ye Gam Ki Mere Dhalti Nahi

Kayi Baar Jo Gaye The, Kahi Jake Kho Gaye The
Wo Mausam To Phir Aa Gaye
Hame Jo Bhigo Gaye The, Nashe Me Dubo Gaye The
Wo Badal To Phir Chha Gaye
Lekin Khabar Mehbub Ki Milti Nahi
Kyun Raat Ye Gam Ki Mere Dhalti Nahi
Ummid Ki Koi Shama Jalti Nahi
Kyun Raat Ye Gam Ki Mere Dhalti Nahi

Ye Kaisi Hai Bewafai Meri Yaad Bhi Na Aayi
Bahut Maine Chaha Jinhe
Ha Tassvur Me Chhaye Hai Wo, Jahen Me Samaye Hai Wo
To Main Kaise Bhulu Unhe
Unke Bina Dil Ki Kali Khilti Nahi
Kyun Raat Ye Gam Ki Mere Dhalti Nahi
Ummid Ki Koi Shama Jalti Nahi
Kyun Raat Ye Gam Ki Mere Dhalti Nahi

Song Lyrics in Hindi Font/Text

उम्मीद की कोई शमा जलती नहीं
क्यों रत ये घुम की मेरे ढलती नहीं
उम्मीद की कोई शमा जलती नहीं
क्यों रत ये घुम की मेरे ढलती नहीं
उम्मीद की कोई शमा जलती नहीं
क्यों रत ये घुम की मेरे ढलती नहीं
कई बार जो गया थे
कही जाके खो गए थे
वो मौसम तो फिर आ गए
हमें जो भिगो गए थे
नशे में डुबो गए थे
वो बदल तो फिर छा गए
लेकिन खबर महबूब की मिलती नहीं
क्यों रात ये घुम की मेरे ढलती नहीं
उम्मीद की कोई शमा जलती नहीं
क्यों रात ये घुम की मेरे ढलती नहीं

ये कैसी है बेवफाई
मेरी यद् भी न आयी
बहुत मैंने चाहा जिन्हे
हा तस्वुर में छाये है
वो जहाँ में समाये है वो
तो मै कैसे भूलू उन्हें
उनके बिना दिल की कली खिलती नहीं
क्यों रात ये घुम की मेरे ढलती नहीं
उम्मीद की कोई शमा जलती नहीं
क्यों रात ये घुम की मेरे ढलती नहीं

Leave A Reply

Your email address will not be published.