Take a fresh look at your lifestyle.

Tumne Rakh To Lee Tasveer Hamari Lyrics

0 313

Tumne Rakh To Lee Tasveer Hamari Lyrics

Romantic song from the movie Lal Dupatta Malmal Ka starring Krish Malik and Veverly. The film was released in the year 1988. Music was composed by Anand Milind and lyrics were penned by Majrooh Sultanpuri.

Movie Details

Movie: Lal Dupatta Malmal Ka

Singer/Singers: Anuradha Paudwal, Pankaj Udhas

Music Director: Anand Milind

Lyricist: Majrooh Sultanpuri

Actors/Actresses: Krish Malik and Veverly

Year/Decade: 1988

Music Label: T-Series

Song Lyrics in English Text

Tumne Rakh To Li Tasvir Hamari
Tumne Rakh To Li Tasvir Hamari
Par Ye Na Ho Ki Jis Tarah Mausam Badalta Hai
Vaise Hi Tumko Bhi Dekhu Rang Badalte Hue
Tumne Rakh To Li Tasvir Hamari
Par Ye Na Ho Ki Jis Tarah Mausam Badalta Hai
Vaise Hi Tumko Bhi Dekhu Rang Badalte Hue
Hamne Rakh To Li Tasvir Tumhari
Par Yu Bhi Hai Ki Jis Tarah Mausam Badalta Hai
Tasviro Ko Bhi Dekha Hai Rang Badalte Hue
Tasviro Ko Bhi Dekha Hai Rang Badalte Hue

Aaj To Milkar Shad Rahe
Kash Ye Kal Bhi Yad Rahe
Baat To Jab Hai Janejahan
Dhyan Mera Mere Bad Rahe
Ban To Baithe Hai Takdir Hamari
Hamne Rakh To Li Tasvir Tumhari
Par Yu Bhi Hai Ki Jis Tarah Mausam Badalta Hai
Tasviro Ko Bhi Dekha Hai Rang Badalte Hue

Tum Jaise In Raho Me Kitne Chale Aur Chhut Gaye
Kitne Hasino Ke Vade Dil Ki Tarah Se Tut Gaye
Kash Na Tute Takdeer Hamari
Tumne Rakh To Li Tasvir Hamari
Par Ye Na Ho Ki Jis Tarah Mausam Badalta Hai
Vaise Hi Tumko Bhi Dekhu Rang Badalte Hue
Hamne Rakh To Li Tasvir Tumhari
Par Yu Bhi Hai Ki Jis Tarah Mausam Badalta Hai
Tasviro Ko Bhi Dekha Hai Rang Badalte Hue

Song Lyrics in Hindi Font/Text

तुमने राख तो ली तस्वीर हमारी
तुमने राख तो ली तस्वीर हमारी
पर ये न हो की जिस तरह
मौसम बदलता हैं
वैसे ही तुमको भी
देखूं रंग बदलते हुए
तुमने राख तो ली
तस्वीर हमारी
पर ये न हो की जिस
तरह मौसम बदलता हैं
वैसे ही तुमको भी
देखूं रंग बदलते हुए

हमने रख तो ली
तस्वीर तुम्हारी
पर यूं भी है की जिस तरह
मौसम बदलता है
तस्वीरों को भी देखा हैं
रंग बदलते हुए
तस्वीरों को भी देखा हैं
रंग बदलते हुए

आज तो मिलकर याद रही काश
ये कल भी याद रहे
बात तो जब है जान-इ-जहां
ध्यान मेरा मेरे बाद रहे
बन तो बैठे हैं
तकदीर हमारी
हमने रख तो ली
तस्वीर तुम्हारी
पर यूं भी है की जिस तरह
मौसम बदलता है
तस्वीरों को भी देखा हैं
रंग बदलते हुए

तुम जैसे इन राहों में
कितने चले और छूट गए
कितने हसीनों के वाडे
दिल की तरह टूट गए
काश न टूटे ज़ंजीर हमारी
तुमने राख तो ली तस्वीर हमारी
पर ये न हो की जिस
तरह मौसम बदलता हैं
वैसे ही तुमको भी
देखूं रंग बदलते हुए
हमने रख तो ली
तस्वीर तुम्हारी
पर यूं भी है की जिस तरह
मौसम बदलता हैं
तस्वीरों को भी देखा है
रंग बदलते हुए

Leave A Reply

Your email address will not be published.