Take a fresh look at your lifestyle.

Pahle To Kabhi Kabhi Gam Tha Lyrics

0 349

Pahle To Kabhi Kabhi Gam Tha Lyrics

Song Lyrics from the Album Tum To Thahre Pardesi (album). The album was released in the year 1993. Music was composed by Mohammed Shafi Niyazi and lyrics were penned by Zaheer.

Movie: Tum To Thahre Pardesi (album)

Singer/Singers: Altaf Raja

Music Director: Mohammed Shafi Niyazi

Lyricist: Zaheer Alam

Actors/Actresses: Altaf Raja

Year/Decade: 1993

Music Label: Venus Records

Song Lyrics in English Text

Pahle To Kabhi Kabhi Gam Tha
Ab To Har Pal Hi Teri Yad Satati Hai
Ab To Har Pal Hi Teri Yad Satati Hai
Pahle To Kabhi Kabhi Gam Tha
Ab To Har Pal Hi Teri Yad Rulati Hai
Ab To Har Pal Hi Teri Yad Rulati Hai

Pahle To Kabhi Kabhi Gam Tha
Magar Ye Dard Judai Hai Har Ghadi Ab
Magar Ye Dard Judai Hai Har Ghadi Ab

Pahle To Kabhi Kabhi Gum Tha
Magar Ye Dage Judayi Hai Har Ghadi Ab
Magar Ye Dage Judayi Hai Har Ghadi Ab

Mai Tujhse Kaise Kahu Ye Bata
Ke Teri Yad Ke Sahare Ji Raha Hu
Ke Teri Yad Ke Sahare Ji Raha Hu

Mai Tujhse Kaise Kahu Ye Bata
Ke Gum Ke Aasuo Ko Khud Hi Pee Raha Hu
Ke Gum Ke Aasuo Ko Khud Hi Pee Raha Hu

Mai Tujhse Kaise Kahu Ye Bata
Na Mar Dale Teri Bewafai Mujhko
Na Mar Dale Teri Bewafai Mujhko

Mai Tujhse Kaise Kahu Ye Bata
Na Mar Dale Kahi Ye Judai Mujhko
Na Mar Dale Kahi Ye Judai Mujhko

Aye Pagli Tu Kyu Ro Rahi Hai
Ke Gum To Mujhko Uthana Hai Judai Ka
Ke Gum To Mujhko Uthana Hai Judai Ka

Aye Pagli Tu Kyu Ro Rahi Hai
Tere Liye To Shama Hai Ye Sahnai Ka
Tere Liye To Shama Hai Ye Sahnai Ka

Aye Pagli Tu Kyu Ro Rahi Hai
Ke Gaw Chodna Hai Mere Mukkadar Me
Ke Gaw Chodna Hai Mere Mukkadar Me

Aye Pagli Tu Kyu Ro Rahi Hai
Ke Umar Gujregi Ab Meri Ye Safar Me
Ke Umar Gujregi Ab Meri Ye Safar Me

Song Lyrics in Hindi Font/Text

प्यार मोहब्बत के
किस्से…
प्यार मोहब्बत के
किस्से बेकार हुये
जब देख तोह दिल के टुकड़े
हज़ार हुये

पेहले तोह कभी कभी ग़म था
अभ तोह हर पल हि तेरी याद
सताती है
अभ तोह हर पल हि तेरी याद
सताती है

पेहले तोह कभी कभी ग़म था
अभ तोह हर पल हि तेरी याद
रुलाती है
अभ तोह हर पल हि तेरी याद
रुलाती है

पेहले तोह कभी कभी ग़म था
मगर येह दर्द्-ए-जुदायी
है हर घदी अब्ब
मगर येह दर्द्-ए-जुदायी
है हर घदी अब्ब
पेहले तोह कभी कभी ग़म था
मगर येह दर्द्-ए-जुदायी
है हर घडी अब्ब
मगर येह दर्द्-ए-जुदायी
है हर घडी अब्ब

मैं तुझसे कैसे कहु येह
बता
के तेरी याद के सहारे जि
रहा हूँ
के तेरी याद के सहारे जि
रहा हूँ

मैं तुझसे कैसे कहु येह
बता
के ग़म के आन्सुओ को खुद
हि पि रहा हूँ
के ग़म के आन्सुओ को खुद
हि पि रहा हूँ

मैं तुझसे कैसे कहु येह
बता
ना मार डाले तेरी
बेवफायी मुझ्को
ना मार डाले तेरी
बेवफायी मुझ्को

मैं तुझसे कैसे कहु येह
बता
ना मार डाले कहीं येह
जुदायी मुझ्को
ना मार डाले कहीं येह
जुदायी मुझ्को

हो बता दे मुझ्को बेवफा
येह
मैं तेरी राह मे कब थक
कडा रहूंगा
मैं तेरी राह मे कब थक
कडा रहूंगा

बता दे मुझ्को बेवफा
येह
मैं तेरे दर पे युउन कब
तक पड़ा रहूंगा
मैं तेरे दर पे युउन कब
तक पड़ा रहूंगा

बता दे मुझ्को बेवफा
येह
तू मुझ्को कब तलक ऐसे हि
रुलायेग
तू मुझ्को कब तलक ऐसे हि
रुलायेग

बता दे मुझ्को बेवफा
येह
तू मुझ्को कब तलक अपना न
बनायेग
तू मुझ्को कब तलक अपना न
बनायेग

ऐ पगली तु क्यों रो रही
है
के घम तोह मुझको उठाना
है जुदाई का
के घम तोह मुझको उठाना
है जुदाई का

ऐ पगली तु क्यों रो रही
है
तेरे लिये तोह समा है
येह शहनाई का
तेरे लिये तोह समा है
येह शहनाई का

ऐ पगली तु क्यों रो रही
है
के गाउँ छोड़ना है मेरे
मुक्कदर मे
के गाउँ छोड़ना है मेरे
मुक्कदर मे

ऐ पगली तु क्यों रो रही
है
के उम्र गुज़रेगी अब्ब
मेरी येह सफर मे
के उम्र गुज़रेगी अब्ब
मेरी येह सफर मे

Leave A Reply

Your email address will not be published.