Take a fresh look at your lifestyle.

Mujhe Ye Phool Na De, Song Lyrics

0 144
Mujhe Ye Phool Na De
Mujhe Ye Phool Na De Song Lyrics

Mujhe Ye Phool Na De, Song Lyrics from Movie Gazal. This Song sung by Asha Bhosle, Lata Mangeshkar, Mohammed Rafi, Suman Kalyanpur. Music given by Madan Mohan & Lyrics written by Sahir Ludhianvi. Star cast of this movie are Sunil Dutt, Meena Kumari, Rehman, Nazima, Prithviraj Kapoor, Rajendra Nath, Raj Mehra, Mehmood

Movie Details

Movie: Gazal

Singer/Singers: Asha Bhosle, Lata Mangeshkar, Mohammed Rafi, Suman Kalyanpur

Music Director: Madan Mohan

Lyricist: Sahir Ludhianvi

Actors/Actresses: Sunil Dutt, Meena Kumari, Rehman, Nazima, Prithviraj Kapoor, Rajendra Nath, Raj Mehra, Mehmood

Year/Decade: 1964

Music Label: Saregama Music

Song Lyrics in English Text

Mujhe Ye Phul Na De, Tujhko Dilbari Ki Kasam
Dilbari Ki Kasam
Ye Kuch Nahi Ye Kuch Nahi, Tere Hotho Ki Tajgi Kis Kasam
Tajgi Kis Kasam

Najar Hasi Ho To Jalve Hasi Lagte Hai
Najar Hasi Ho To Jalve Hasi Lagte Hai
Mai Kuch Nahi Hu Mujhe Husn H Ki Kasam
Mujhe Ye Phul Na De

Tu Ek Saaz Hai Cheda Nahi Kisi Ne Jise
Tere Badan Me Chupi Naram Ragini Ki Kasam
Ragini Ki Kasam

Ye Ragani Tere Dil Me Hai Mere Tan Me Nahi
Parkhne Wale Mujhe Teri Sadgi Ki Kasam
Sadgi Ki Kasam
Mujhe Ye Phul Na De

Gajal Ka Laaz Hai Tu Najam Ka Sabab Hai Tu
Gajal Ka Laaz Hai Tu Najam Ka Sabab Hai Tu
Yakin Kar Mujhe Meri Ho Sayri Ki Kasam
Sayri Ki Kasam
Parkhane Wale Mujhe Teri Sadgi Ki Kasam
Mujhe Ye Phul Na De, Tujhko Dilbari Ki Kasam

Song Lyrics in Hindi Text

मुझे ये फूल न दे
तुझको दिलबरी की क़सम
दिलबरी की क़सम
ये कुछ नहीं
ये कुछ नहीं
ये कुछ नहीं
तेरे होंठों की ताजगी की क़सम
ताजगी की क़सम

नज़र हसीं हो तो
जलवे हसीं लगते हैं
नज़र हसीं हो तो
जलवे हसीं लगते हैं
मैं कुछ नहीं
मैं कुछ नहीं
मैं कुछ नहीं हूँ
मुझे मेरी हुसंगी की क़सम
हुसंगी की क़सम
मुझे ये फूल न दे

तू एक साज़ है
छेड़ा नहीं किसी ने जिसे
तू एक साज़ है
छेड़ा नहीं किसी ने जिसे
तेरे बदन में छुपी
नर्म रागिनी की क़सम
रागिनी की क़सम

ये रागिनी तेरे दिल में है
मेरे तन में नहीं
ये रागिनी तेरे दिल में है
मेरे तन में नहीं
परखने वाले मुझे
तेरी सादगी की क़सम
सादगी की क़सम
मुझे ये फूल न दे

ग़ज़ल का लोच है तू
नज़्म का शबाब है तू
ग़ज़ल का लोच है तू
नज़्म का शबाब है तू
यकीन कर मुझे
मेरी ही शायरी की क़सम
शायरी की क़सम
परखने वाले मुझे
तेरी सादगी की क़सम
मुझे ये फूल न दे
तुझको दिलबरी की क़सम
ये कुछ नहीं
तेरे होंठों की ताज़गी की क़सम
ताज़गी की क़सम.

Leave A Reply

Your email address will not be published.