Take a fresh look at your lifestyle.

Ladki Kyon Na Jane Kyon, Song Lyrics

0 373
Ladki Kyon Na Jane Kyon
Ladki Kyon Na Jane Kyon Song Lyrics

Ladki Kyon Na Jane Kyon, Song Lyrics from Movie Hum Tum. This Song sung by Alka Yagnik, Babul Supriyo, Juggy D, Rishi Rich, Sadhana Sargam, Shaan, Sonu Nigam, Udit Narayan, Veronica. Music given by Jatin Pandit, Lalit Pandit & Lyrics written by Prasoon Joshi. Star cast of this movie are Saif Ali Khan, Rani Mukherjee, Eesha Koppikhar, Jimmy Sheirgill, Abhishek Bachchan, Kirron Kher, Rishi Kapoor, Shenaz Treasuryvala, Rati Agnihotri

Movie Details

Movie: Hum Tum

Singer/Singers: Alka Yagnik, Babul Supriyo, Juggy D, Rishi Rich, Sadhana Sargam, Shaan, Sonu Nigam, Udit Narayan, Veronica

Music Director: Jatin Pandit, Lalit Pandit

Lyricist: Prasoon Joshi

Actors/Actresses: Saif Ali Khan, Rani Mukherjee, Eesha Koppikhar, Jimmy Sheirgill, Abhishek Bachchan, Kirron Kher, Rishi Kapoor, Shenaz Treasuryvala, Rati Agnihotri

Year/Decade: 2004

Music Label: YRF Music

Song Lyrics in English Text

ladki Kyon Na Jaane Kyon Ladko Si Nahin Hoti
Sochti Hai Zyada Kam Woh Samajhti Hai
Sochti Hai Zyada Kam Woh Samajhti Hai
Dil Kuch Kehta Hai Kuch Aur Hi Karti Hai
Ladki Kyon Na Jaane Kyon Ladko Si Nahin Hoti
Ladki Kyon Na Jaane Kyon Ladko Si Nahin Hoti
Sochti Hai Zyada Kam Woh Samajhthi Hai
Dil Kuch Kehta Hai Kuch Aur Hi Karti Hai
Ladki Kyon Na Jaane Kyon Ladko Si Nahin Hoti
Ladki Kyon Na Jaane Kyon Ladko Si Nahin Hoti
Pyaar Use Bhi Hai Magar Shuruaat Tumhi Se Chahe
Khud Me Uljhi Uljhi Hai Par Balo Ko Suljaaye
Sab Se Alag Hai Tum Yeh Keh Ke Paas Tumhaare Aaye
Aur Kuch Din Me Tum Me Alag Sa Kuch Bhi Na Usko Bhaye
Tumhe Badalne Ko Paas Woh Aati Hai
Tumhe Mitaane Ko Jaal Bichati Hai
Baaton Baaton Me Tumhe Phasati Hai
Pehle Hasati Hai Phir Bada Rulaati Hai
Ladki Kyon Na Jaane Kyon Ladko Si Nahin Hoti
Ladki Kyon Na Jaane Kyon Ladko Si Nahin Hoti
Itna Hi Khud Se Khush Ho To Piche Kyon Aate Ho
Phool Kabhi To Hazar Thofein Akhir Kyon Laaten Ho
Bikhra Bikhra Bematlab Sa Toota Phoota Jina
Aur Kehte Ho Alag Se Hai Hum Taan Ke Apna Sina
Jine Ka Tumko Dhang Sikhlati Hai
Tumhe Jaanwar Se Insaan Banaati Hai
Uske Bina Ek Pal Reh Na Sakoge Tum
Usko Pata Hai Yeh Keh Na Sakoge Tum
Issliye Ladkiya Ladko Si Nahin Hoti
Issliye Ladkiya Ladko Si Nahin Hot
Jaane Kaun Kaun Se Din Woh Tumko Yaad Dilaaye
Pyaar Ko Chahe Bhul Bhi Jaaye Tarikhe Na Bhulaye
Ladko Ka Kya Hai Kissi Bhi Mod Pe Woh Mud Jaaye
Abhi Kissi Ke Hai Abhi Kissi Aur Se Woh Jud Jaaye
Ek Haan Kehne Ko Kitna Tehlati Hai
Thak Jaate Hai Hum Woh Ji Behlati Hai
Woh Sharmati Hai Kabhi Chhupati Hai
Ladki Jo Haan Kehde Usse Nibhati Hai
Issliye Ladkiya Ladko Si Nahin Hoti
Issliye Ladkiya Ladko Si Nahin Hoti
Issliye Ladkiya Ladko Si Nahin Hoti
Issliye Ladkiya Ladko Si Nahin Hoti

Song Lyrics in Hindi Font/Text

श : लड़की क्यूँ न जाने क्यूँ लड़कों सी नहीं होती

सोचती है ज़्यादा, कम वो समझती है -२
दिल कुछ कहता है, कुछ और ही करती है
लड़की क्यूँ न जाने क्यूँ लड़कों सी नहीं होती -२

सोचती है ज़्यादा, कम वो समझती है -२
दिल कुछ कहता है, कुछ और ही करती है
लड़की क्यूँ न जाने क्यूँ लड़कों सी नहीं होती -२

प्यार उसे भी है मगर शुरूआत तुम्ही से चाहे
खुद में उलझी-उलझी है पर बालों को सुलझाये

i mean you’re all the same,यार
हम अच्छे दोस्त हैं, पर उस नज़र से तुमको देखा नहीं
वो सब तो ठीक है पर उस बारे में मैंने सोचा नहीं

सब से अलग हो तुम ये कह के पास तुम्हारे आये
और कुछ दिन में तुम में अलग सा कुछ भी न उसको भाये

उफ़, ये कैसी shirtपहनते हो
ये कैसे बाल कटाते हो
गाड़ी तेज़ चलाते हो
तुम जळी में क्यूँ खाते हो
gimme a break!

तुम्हें बदलने को पास वो आती है
तुम्हें मिटाने को जाल बिछाती है
बातों-बातों में तुम्हें फंसाती है
पहले हँसाती है
फिर बड़ा रुलाती है
लड़की क्यूँ न जाने क्यूँ लड़कों सी नहीं होती -२

अ : ऐ इतना ही खुद से ख़ुश हो तो पीछे क्यूँ आते हो
फूल कभी तो हज़ार तोहफ़े आख़िर क्यूँ लाते हो

अपना नाम नहीं बताया आपने
क़ाॅफ़ी पीने चलेंगे?
मैं आपको घर छोड़ दूँ
फिर कब मिलेंगे?

बिखरा बिखरा बेमतलब सा टूटा फूटा जीना
और कहते हो अलग से हैं हम तान के अपना सीना

भीगा तौलिया कहीं फ़र्श पे
Toothpasteका ढक्कन कहीं
कल के मोज़े उलट के पहने
वक़्त का कुछ भी होश नहीं

जीने का तुमको ढंग सिखलाती है
तुम्हें जानवर से इन्साँ बनाती है
उसके बिना एक पल रह ना सकोगे तुम
उसको पता है ये कह ना सकोगे तुम
इसलिये लड़कियाँ लड़कों सी नहीं होतीं -२

श : जाने कौन-कौन से दिन वो तुमको याद दिलाये
प्यार को चाहें भूल भी जाये, तारीख़ें न भुलाये

first marchको नज़र मिलाई
चार aprilको मैं मिलने आई
इक्कीस mayको तुमने छुआ था
छः juneमुझे कुछ हुआ था

अ : लड़कों का क्या है किसी भी मोड़ पे वो मुड़ जायें
अभी किसी के हैं, अभी किसी और से वो जुड़ जायें

तुम्हारे mummy daddyघर पे नहीं हैं
great,मैं आ जाऊँ?
तुम्हारी friendअकेली घर जा रही है
बेचारी, मैं छोड़ आऊँ? उफ़!

श : एक हाँ कहने को कितना दहलाती है
थक जाते हैं हम वो जी बहलाती है

अ : वो शरमाती है, कभी छुपाती है
लड़की जो हाँ कह दे, उसे निभाती है
इसलिये लड़कियाँ लड़कों सी नहीं होतीं -२

Leave A Reply

Your email address will not be published.