Take a fresh look at your lifestyle.

Koyi Preet Ki Reet Bata Do Hame | कोई प्रीत की रीत बता दे Song Lyrics

0 136

Koyi Preet Ki Reet Bata Do Hame, Song Lyrics from Movie Kaarwaan-e-Hayaat. This Song sung by Kundan Lal Saigal, Pahadi Sanyal, Miss Malina. Music given by Mihir Kiran Bhattacharya & Lyrics written by Hakim Ahmad Shuja Pasha. Star cast of this movie are Rattan Bai, Gul Hamid, Malina, Nawab, Rajkumari, Rana, Kundan Lal Saigal, Pahadi Sanyal, Shyama

Movie Details

Movie: Kaarwaan-e-Hayaat

Singer/Singers: Kundan Lal Saigal, Pahadi Sanyal, Miss Malina

Music Director: Mihir Kiran Bhattacharya

Lyricist: Hakim Ahmad Shuja Pasha

Actors/Actresses: Rattan Bai, Gul Hamid, Malina, Nawab, Rajkumari, Rana, Kundan Lal Saigal, Pahadi Sanyal, Shyama

Year/Decade: 1935

Music Label: Saregama Music

Song Lyrics in English Text

Koyee Prit Kee Rit Bata Do Hame
Koyee Mann Kaa Mit Mila Do Hame
Koyee Aisa Git Suna Do Hame
Khil Jaye Dil Se Dil Kee Kalee – (2)

Banawasee Mit Kaha Jane, Pardesee Prit Kaha Jane
Ham Aisa Git Kaha Jane – (2)
Khil Jaye Dil Se Dil Kee Kalee – (2)
Yaha Dil Kee Kalee Kabahee Naa Khilee – (2)

Yeh Sab Shaharo Ke Dhande Hain
Yeh Hirso Hawas Ke Phande Hain
Ham Toh Sailanee Bande Hain
Ham Prit Kee Rit Kaha Jane – (2)

(dil Jangal Hee Me Bahalata Hai
Yaha Honthon Pe Git Machalata Hai) – (2)
Yaha Prem Kaa Sagar Chalata Hai – (2)

(hame Prit Kee Rit Bata De Koyee
Hame Aisa Git Suna De Koyee) – (2)
Khil Jaye Dil Se Dil Kee Kalee – (2)
Yaha Dil Kee Kalee Toh Kabhee Naa Khilee – (2)

Song Lyrics in Hindi Text

कोई प्रीत की रीत बता दो हमें
कोई मैं का मीत मिला दो हमें
कोई ऐसा गीत सुना दो हमें
खिल जाए दिल से दिल की कली
खिल जाए दिल से दिल की कली

बनवासी मीट कहाँ जाने
परदेसी प्रीत कहाँ जाने
हम ऐसा गीत कहाँ जाने
हम ऐसा गीत कहाँ जाने

खिल जाए दिल से दिल की कली
खिल जाए दिल से दिल की कली
यहाँ दिल की कली तो कभी न खिली
यहाँ दिल की कली तो कभी न खिली

ये सब शहरों के धंदे हैं
ये हिर्स ओ हवास के फंडे हैं
हम तो सैलानी बन्दे हैं
हम प्रीत की रीत कहाँ जाने
हम प्रीत की रीत कहाँ जाने

दिल जंगल ही में बहलता है
यहां हुस्न पे इश्क़ मचलता है
दिल जंगल ही में बहलता है
यहां हुस्न पे इश्क़ मचलता है
यहाँ प्रेम का सागर चलता है
यहाँ प्रेम का सागर चलता है

हमें प्रीत की रीत बता दे कोई
हमें ऐसा गीत सुना दे कोई
हमें प्रीत की रीत बता दे कोई
हमें ऐसा गीत सुना दे कोई

खिल जाए दिल से दिल की कली
खिल जाए दिल से दिल की कली
यहाँ दिल की कली तो कभी न खिली
यहाँ दिल की कली तो कभी न खिली

Leave A Reply

Your email address will not be published.