Take a fresh look at your lifestyle.

Khuda Na Khasta Song Lyrics

0 109
Khuda Na Khasta Song
Khuda Na Khasta Song Lyrics

Bollywood Song 2014 KHUDA NA KHASTA in the astonishing voice of ARIJIT SINGH, from the Latest Bollywood Movie ONE BY TWO, Hindi romantic comedy directed by Devika Bhagat starring the real life couple Abhay Deol & Preeti Desai.

Movie Details

Movie: One By Two

Singer/Singers: Arijit Singh

Music Director: Shankar Ehsaan Loy

Lyricist: Amitabh Bhattacharya

Actors/Actresses: Abhay Deol & Preeti Desai

Year/Decade: 2015 – 2016

Music Label: T-Series

Song Lyrics in English Text

Aayi Jo Teri Yaad Tanhaai Mein..
Aayi Jo Teri Yaad Tanhaai Mein..
Aankhein Barasti Rahi Aksar Judaai Mein..
Aayi Jo Teri Yaad Tanhaai Mein..Tanhaai..
Aayi Jo Teri Yaad Tanhaai Mein..

Veeraniyaan, Parchhaiyaan,
Tadpa Gayi Ruswaaiyaan..
Saanson Mein Ghulti, Saansein Wo Teri..
Lauta De Mujhko
Raatein Wo Meri
Mahssos Karta Hoon, Tu Her Kaheen Hai..
Per Tu Nahi Hai…

Advertisement
Jeena Lage Saza Ruswaayi Mein..
Jeena Lage Saza Ruswaayi Mein..
Tanhaai..
Aayi Jo Teri Yaad Tanhaai Mein..

Aisi Adaa, Sabse Juda, Dekhi Nahi O Bewafa..
Mere Jism-O-Jaan Mein, Tera Hi Junoon Hai..
Chhena Kyoon Toone Mera Yeh Sukoon Hai..
Hasrat Mein Teri Main Jal Raha Hoon..
Main Jal Raha Hoon..

Advertisement
Roya Hoon Teri Iss Bewafaayi Mein..
Roya Hoon Teri Iss Bewafaayi Mein..
Aankhein Barasti Rahi Aksar, Judaai Mein..
Aayi Jo Teri Yaad Tanhaai Mein..
Aayi Jo Teri Yaad Tanhaai Mein..

Song Lyrics in Hindi Font

टुकड़ों की ये तस्वीर है
टुकड़ों में भी लेकिन हसीन तहरीर है
कहने को यूँ कह लिजिए
तेवर भरी से ज़ेवरनुमा ये ज़ंजीर है

ये ज़िन्दगी जुआ है, किसको यक़ीं हुआ है?
बाजियाँ ना, मुनासिब कहीं बढ़ जाए ना
एक तरफ़ा सफ़र के लब पे यहीं दुआ है
कहीं ना गँवारा मोड़, कोई मुड जाए ना

खुदा ना खास्ता, खुदा ना खास्ता
खुदाया खैर करें, खुदा ना खास्ता

एक हाथ में १०० हाथ है
और दूसरे में रंजिशें हैं, जज़्बात हैं
ना जाने क्यूँ इसके लिए
कोहराम में कुछ इत्मीनान सी बात है

ये ज़िन्दगी धुआँ है, किसने इसे छुआ है?
तितलियों की तरह शोख है उड़ जाए ना
एक तरफ़ा सफ़र के लब पे यहीं दुआ है
कहीं ना गँवारा मोड़, कोई मुड जाए ना

खुदा ना खास्ता, खुदा ना खास्ता
खुदाया खैर करें, खुदा ना खास्ता

साइयाँ
साइयाँ

इतनी सिलवटें माज़ी में पड़ी
जीने की वजह उनसे थी बड़ी
ओ, ज़ाया बात क्यूँ शिकवों में करें?
अधूरी हसरतें दर पे हैं खड़ी

ओ, ज़िन्दगी नशा है, तकलीफ़ में मज़ा है
इसकी फ़ितरत में ही जंग है, छिड़ जाए ना
एक तरफ़ा सफ़र के लब पे यहीं दुआ है
कहीं ना गँवारा मोड़, कोई मुड जाए ना

खुदा ना खास्ता, खुदा ना खास्ता
खुदाया खैर करें, खुदा ना खास्ता

खुदा ना खास्ता, खुदा ना खास्ता
खुदाया खैर करें, खुदा ना खास्ता

Leave A Reply

Your email address will not be published.