Take a fresh look at your lifestyle.

Ke Pag Ghungaroo Baandh Lyrics

0 172

k pag ghungaroo

A fun-filled song from the movie Namak Halaal starring Amitabh Bachchan and Shashi Kapoor. The film was released in the year 1982. Music was composed by Bappi Lahiri and lyrics were penned by Anjaan.

Movie Details

Movie: Namak Halaal

Singer/Singers: Kishore Kumar

Music Director: Bappi Lahiri

Lyricist: Anjaan

Actors/Actresses: Amitabh Bachchan and Shashi Kapoor

Year/Decade: 1982

Music Label: Shemaroo Music

Song Lyrics in English Text

Buzurgo Ne, Buzurgo Ne, Faramaya Ke
Pairo Pe Apane Khade Hoke Dikhlao, Phir Ye Zamana Tumhara Hai
Zamane Ke Sur Taal Ke Sath, Badhte Chale Jao
Phir Har Tarana Tumhara, Fasana Tumhara Hai
Are To Lo Bhaiya Ham, Apane Pairo Ke Upar
Khade Ho Gaye, Aur Milali Hai Taal
Daba Lega Daanto Tale Ungaliya Liya
Ye Jaha Dekh Kar, Dekh Kar
Apani Chal Vaah Vaah, Dhanyavad
Ke Pag Ghungharu, Ke Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Aur Ham Naache Bin Ghungaru Ke
Ke Pag Ghungaru Baandh, Mira Naachi Thi
Vo Tir Bhala, Kis Kaam Kaa Hai
Jo Tir Nishane Se Chuke Chuke Chuke Re
Ke Pag Ghungharu Ke Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Mira Nachi Thi, Mira Nachi Thi, Mira Nachi Thi

Aap Andar Se Kuchh, Aur Bahar Se Kuch Aur Nazar Aate Hai
Barakhurdar Shakl Se To Chor Nazar Aate Hai
Umr Guzari Hai Sari Chori Me
Sare Sukh Chain Band, Jurm Ki Tijauri Me
Aap Ka To Lagta Hai Bas Yahi Sapana
Raam Naam Japana Paraya Mal Apana
Aap Ka To Lagta Hai Bas Yahi Sapana
Raam Naam Japana Paraya Mal Apana
Vatan Ka Khaya Namak To, Namak Halal Bano
Farz Iman Ki Zida Yaha Misal Bano
Paraya Dhan, Parayi Naar Pe Nazar Mat Dalo
Buri Aadat Hai Ye, Aadat Abhi Badal Dalo
Kyo Ki Ye Aadat To, Vo Aag Hai Jo
Ik Din Apana Ghar Phunke Phunke Phunke Re
Ke Pag Ghungharu Ke Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Mira Nachi Thi, Mira Nachi Thi, Mira Nachi Thi

Mausam E Ishq Me Machale Hue Arman Hai Ham
Dil Ko Lagata Hai Ki Do Jism Ek Jan Hai Ham
Aisa Lagata Hai To Lagane Me Kuch Burai Nahi
Dil Ye Kahata Hai Aap Apni Hai, Parai Nahi
Sagemaramar Ki Haay, Koi Murat Ho Tum
Koi Dilakash Badi, Khubasurat Ho Tum
Dil Dil Se Milane Ka Koi Muhurat Ho
Pyase Dilo Ki Zarurat Ho Tum
Dil Chirake, Dikhala Dun Mai, Dil Me Yahi Surat Hasi
Kya Aap Ko Lagata Nahi, Ham Hai Mile Pahale Kahi
Kya Des Hai, Kya Jaat Hai, Kya Umr Hai, Kya Nam Hai
Are Chhod Iye In Bato Se, Hamko Bhala Kya Kaam Hai
Aji Suniye To Ham Aap Mile To Phir Ho Shuru
Afasane Laila, Majanu Laila Majanu Ke

Ke Pag Ghungharu, Ke Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Aur Ham Naache Bin Ghungaru Ke
Ke Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Ke Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Ke Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi
Pag Ghungharu Baandh, Mira Nachi Thi

Song Lyrics in Hindi Font/Text

बुज़ुर्गों ने,
बुज़ुर्गों ने, फ़रमाया के पैरों पे अपने खड़े होके दिखलाओ
फिर ये ज़माना तुम्हारा है,
ज़माने के सुर ताल के साथ, बढ़ते चले जाओ
फिर हर तराना तुम्हारा, फ़साना तुम्हारा है

अरे तो लो भैया हम, अपने पैरों के ऊपर,
खड़े हो गए,
और मिलाली है ताल
दबा लेगा दाँतों तले उँगलियाँ … लियाँ …
ये जहाँ देख कर, देख कर
अपनी चाल… वाह वाह!

धन्यवाद!
के पग घुँघरू …
के पग घुँघरू बाँध, मीरा नाची थी
और हम नाचे बिन घुँगरू के
के पग घुँगरू बाँध, मीरा नाची थी
वो तीर भला, किस काम का है
जो तीर निशाने से चूके चूके चूके रे
के पग घुँघरू …

स स स ग ग री री स नी नी स स स (३)
ग ग ग प प म म ग री री ग ग ग (२)
प नी स (४). म प नी (४)
रे रे रे रे रे ग रे ग रे ग

प प प प प म ग रे स नी स ध
स नी स ध स नी स ध
स नी स ध स नी स ध
स ध नी स स ध नी स
स ध नी स स ध नी स
प म प म ग म ग रे
ग रे स नी स नी स ग
स रे स ग रे ग रे म
रे म ग म ग म प म
प म ग रे स नी स प स
प म ग रे स नी स प स

आप अंदर से कुछ,
और बाहर से कुछ और नज़र आते हैं,
बरखुर्दार शक्ल से तो, चोर नज़र आते हैं,
उम्र गुज़री है सारी चोरी में
सारे सुख चैन बन्द, जुर्म की तिजौरी में

आप का तो लगता है बस यही सपना
राम नाम जपना पराया माल अपना (२)

वतन का खाया नमक तो, नमक हलाल बनो,
फ़र्ज़ ईमान की ज़िंदा यहाँ मिसाल बनो
पराया धन, पराई नार पे नज़र मत डालो
बुरी आदत है ये, आदत अभी बदल डालो

क्यों कि!! ये आदत तो, वो आग है जो
इक दिन अपना घर फूँके फूँके फूँके रे
के पग घुँघरू …

मौसम-ए-इश्क़ में मचले हुए अर्मान हैं हम
दिल को लगता है की दो जिस्म एक जान हैं हम
ऐसा लगता है तो लगने में कुछ बुराई नहीं
दिल ये कहता है आप अपनी हैं, पराई नहीं

संगेमरमर की हाय, कोई मूरत हो तुम
कोई दिलकश बड़ी, खूबसूरत हो तुम
दिल दिल से मिलने का कोई मुहूरत हो
प्यासे दिलों की ज़रूरत हो तुम

दिल चीरके, दिखला दूँ मैं,
दिल में यही, सूरत हंसीं
क्या आप को लगता नहीं, हम हैं मिले पहले कहीं

क्या देस है, क्या जात है,
क्या उम्र है, क्या नाम है,
अरे छोड़िये इन बातों से,
हमको भला क्या काम है

अजी सुनिये तो… हम आप मिले
तो फिर हो शुरू
अफ़साने लैला, मजनू लैला मजनू के

के पग घुँघरू …

Leave A Reply

Your email address will not be published.