Take a fresh look at your lifestyle.

Kabhi Yaado Mein Aao Lyrics

0 887

kabhi yaado main aao

A very sweet and heart touching song from album Tere Bina sung beautifully by Abhijeet. Music composed by Saptarishi and lyrics by Nusrat Badr.

Movie Details

Movie/Album: Tere Bina

Singer/Singers: Abhijeet

Music Director: Saptarishi

Lyricist: Nusrat Badr

Actors/Actresses: Divya Khosla Kumar, Abhijeet, Monty

Year/Decade: 2003

Music Label: T Series

Song Lyrics in English Text

Kabhi Yaado Me Aau, Kabhi Khwaabo Me Aau
Kabhi Yaado Me Aau, Kabhi Khwaabo Me Aau
Teri Palakn Ke Saaye Me Aakar Jhilmilaau
Mai Woh Khushbu Nahi Jo Hawa Me Kho Jaau

Hawa Bhi Chal Rahi Hai, Magar Too Hi Nahi Hai
Fija Rangin Bani Hai, Kahaani Keh Rahi Hai
Mujhe Jitana Bhulaao Mai Utana Yaad Aau
Kabhi Yaado Me Aau, Kabhi Khwaabo Me Aau

Jo Tum Naa Milati, Khota Hi Kya Dhund Lane Ko
Jo Tum Naa Milati, Khota Hi Kya Dhund Lane Ko
Jo Tum Naa Hoti, Hota Hi Kya Dhund Lane Ko
Meri Amanat Thi Tum, Meri Amanat Thi Tum
Meri Mohabbat Ho Tum, Tumhe Kaise Main Bhulaau
Kabhi Yaado Me Aau, Kabhi Khwaabo Me Aau
Teri Palako Ke Saaye Me Aakar Jhilmilaau

Tadap Rahe Ho Jamaane Se Muskaraane Ko
Tadap Rahe Ho Jamaane Se Muskaraane Ko
Taras Rahe Ho Jamaane Se Paas Aane Ko
Teri Dhadkano Me Baskar, Teri Dhadkano Me Baskar
Teri Saanson Me Reh Reh Kar, Tumhe Har Pal Sataau
Kabhi Yaado Me Aau, Kabhi Khwaabo Me Aau
Teri Palako Ke Saye Me Aakar Jhilmilaau
Mai Woh Khushbu Nahi Jo Hawa Me Kho Jaau

Song Lyrics in Hindi Font/Text

कभी यादों में आओ, कभी ख़्वाबों में आओ

कभी यादों में आओ, कभी ख़्वाबों में आओ

तेरी पलकों के साये में आकर झिलमिलाऊँ
मैं वो खुशबू नहीं जो हवा में खो जाऊं

हवा भी चल रही है, मगर तू ही नहीं है

फिज़ा रंगीन बनी है, कहानी कह रही है
मुझे जितना भुलाओ मैं उतना याद आऊँ
कभी यादों में आऊँ, कभी ख़्वाबों में आऊँ

जो तुम न मिलती, ख़ोता ही क्या ढूँढ लाने को

जो तुम न मिलती, ख़ोता ही क्या ढूँढ लाने को
जो तुम न होती, होता ही क्या ढूँढ लाने को
मेरी अमानत ठी तुम, मेरी अमानत ठी तुम
मेरी मोहब्बत हो तुम, तुम्हें कैसे मैं भुलाऊं
कभी यादों में आओ, कभी ख़्वाबों में आओ
तेरी पलकों के साये में आकर झिलमिलाऊँ

तड़प रहे हो ज़माने से मुस्कुराने को
तड़प रहे हो ज़माने से मुस्कुराने को
तरस रहे हो जमाने से पास आने को
तेरी धडकनों में बसकर, तेरी धडकनों में बसकर
तेरी साँसों में रह रह कर, तुम्हें हर पल सताऊँ
कभी यादों में आओ, कभी ख़्वाबों में आओ
तेरी पलकों के साये में आकर झिलमिलाऊँ
मैं वो खुशबू नहीं जो हवा में खो जाऊ

Leave A Reply

Your email address will not be published.