Take a fresh look at your lifestyle.

Husn Husn Qaatil हुस्न कातिल Song Lyrics – Srishti Bhandari

0 63

Husn Husn Qaatil Song LyricsHusn Husn Qaatil Lyrics, from the movie Madhuraraja . This song is sung by Srishti Bhandari and the movie was released in the year 2020. Music was composed by Amjad Nadeem Aamir and lyrics were penned by Alaukik Rahi .

Movie Details

Movie: Madhuraraja
Singer/Singers: Srishti BhandariMusic Director: Amjad Nadeem Aamir

Lyricist: Alaukik Rahi

Year/Decade: 2020

Music Label: Zee Music Company

Song Lyrics in English Text

Chandni utar aayi mehfil mein aaj
Mera hi jaadu chalega aaj

Aaj ki hai raat nasheeli
Thodi si maine bhi pi li
Tan badan mein aag lagi hai
Haan jashan ki baat chali hai

Mood mein tum bhi ho
Mood mein hum bhi hai
Khamkha misuse na kar lena
Aaha!

Husn husn mera qaatil qaatil
Muft muft mein tu chakh lena
Looks looks tareef-e-kaabil
Ang ang sangmarmar sa

Aaj ki hai raat nasheeli
Thodi si maine bhi pi li

Saare zamane mein mera hi jalwa hai
Aaja na close to me, sohniye
Sabke demand mein main desi chhori hun
Baahon mein bhar abhi, baliye

Kaisi hawa meri taraf chali hai
Meri patang ki dor kati hai
Loot le mujhko doondh le mujhko
Aaja na kahin phir der na ho jaaye
Aaha!

Husn husn mera qaatil qaatil
Muft muft mein tu chakh lena
Looks looks tareef-e-kaabil
Ang ang sangmarmar sa

Aaj ki hai raat nasheeli
Thodi si maine bhi pi li
Tan badan mein aag lagi hai
Haan jashan ki baat chali hai

Mood mein tum bhi ho
Mood mein hum bhi hai
Khamkha misuse na kar lena
Aaha!

Husn husn mera qaatil qaatil
Muft muft mein tu chakh lena
Looks looks tareef-e-kaabil
Ang ang sangmarmar sa

Husn husn mera qaatil qaatil
Muft muft mein tu chakh lena
Looks looks tareef-e-kaabil
Ang ang sangmarmar sa

Song Lyrics in Hindi Text

चाँदनी उतार आई महफ़िल में आज
मेरा ही जादू चलेगा आज

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैंने भी पी ली
तन बदन में आग लगी है
हाँ जशन की बात चली है

मूड में तुम भी हो
मूड में हम भी हैं
खामखां मिसयूज़ ना कर लेना
आहा..

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-क़ाबिल
अंग अंग संगमरमर सा

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैंने भी पी ली

सारे ज़माने में मेरा ही जलवा है
आजा ना तू दोस्त तुम भी सोनिये
सबके डिमॅंड में मैं देसी छोड़ी हूँ
बाहों में भर अभी बलिए

कैसी हवा मेरी तरफ चली है
मेरी पतंग की डोर कटी है
लूट ले मुझको ढूँढ ले मुझको
आजा ना कहीं फिर देर न हो जाए
आहा..

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-काबिल
अंग अंग संगमरमर सा

आज की है रात नशीली
थोड़ी सी मैंने भी पी ली
तन बदन में आग लगी है
हाँ जशन की बात चली है

मूड में तुम भी हो
मूड में हम भी हैं
खामखां मिसयूज़ ना कर लेना
आहा..

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-क़ाबिल
अंग अंग संगमरमर सा

हुस्न हुस्न मेरा क़ातिल क़ातिल
मुफ़्त मुफ़्त में तू चख लेना
लुक्स लुक्स तारीफ-ए-क़ाबिल
अंग अंग संगमरमर सा

Leave A Reply

Your email address will not be published.