Take a fresh look at your lifestyle.

Humne Ghar Chhoda Hai Lyrics

0 347

humne ghar chhoda hai lyrics

A beautiful love song from the movie Dil starring Aamir Khan and Madhuri Dixit. Perfect singing by Udit Narayan and Sadhna Sargam. Music Composed by Anand Milind & Lyrics by Sameer.

Movie Details

Movie: Dil

Singer/Singers: Sadhana Sargam, Udit Narayan

Music Director: Anand Milind

Lyricist: Sameer

Actors/Actresses: Madhuri Dixit, Aamir Khan

Year/Decade: 1990

Music Label: Tseries Music

Song Lyrics in English Text

Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai
Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai
Door Kahi Jaayenge Nayi Duniya Basaayenge
Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai
Door Kahi Jaayenge Nayi Duniya Basaayenge
Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai

Tere Bina Jina Pade Din Voh Kabhi Bhi Na Aaye
Tere Bina Jina Pade Din Voh Kabhi Bhi Na Aaye
Koi Bhi Aandhi Ho, Tufan Koi Humko Juda Kar Na Paaye
Bas Ek Baar Kiya Hai Maine Tujhe Pyaar Kiya Hai
Bas Ek Baar Kiya Hai Maine Tujhe Pyaar Kiya Hai
Hum Teri Baaho Me Jannat Ko Bhulaayenge
Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai

Chhat Pyaar Ki Dil Ki Zamin Sapno Ki Unchi Diwaare
Chhat Pyaar Ki Dil Ki Zamin Sapno Ki Unchi Diwaare
Kaliya Mohabbat Ki Khilne Lagi Aayi Milan Ki Bahaare
Janmo Ki Pyaas Bujha De Mujhko Gale Se Laga Le
Janmo Ki Pyaas Bujha De Mujhko Gale Se Laga Le
Pyaar Ke Is Mandir Ko Chaahat Se Sajaayenge
Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai
Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai
Door Kahi Jaayenge Nayi Duniya Basaayenge
Humne Ghar Chhod A Hai Rasmo Ko Toda Hai

Song Lyrics in Hindi Font/Text

हमने घर छोड़ा है रस्मों को तोडा है
हमने घर छोड़ा है रस्मों को तोडा है
दूर कहीं जाएंगे
नयी दुनिया बसाएंगे

हमने घर छोड़ा है रस्मों को तोडा है
दूर कहीं जाएंगे
नयी दुनिया बसाएंगे

हमने घर छोड़ा है
रस्मों को तोडा है

तेरे बिना जीना पड़े दिन वोह कभी भी न आये
तेरे बिना जीना पड़े
दिन वोह कभी भी न आये

कोई भी आंधी तूफ़ा कोई
हमको जुदा कर न पाये

बस एक बार किया है मैंने तुझे प्यार किया है
बस एक बार किया है
मैंने तुझे प्यार किया है

हम तेरी बाहों में
जन्नत को भुलायेंगे

हमने घर छोड़ा है
रस्मों को तोडा है

छत प्यार की
सपनों की ऊंची दीवारें
छत प्यार की
सपनों की ऊंची दीवारें

कलियाँ मोहब्बत की खिलने लगी
आई मिलन की बहारें

जन्मों की प्यास बुझा दे
मुझको गले से लगा दे
जन्मों की प्यास बुझा दे
मुझको गले से लगा दे
प्यार के इस मंदिर को
चाहत से सजाएंगे

हमने घर छोड़ा है
रस्मों को तोडा है
हमने घर छोड़ा है
रस्मों को तोडा है
दूर कहीं जाएंगे
नयी दुनिया बसाएंगे

हमने घर छोड़ा है
रस्मों को तोडा है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.