Take a fresh look at your lifestyle.

Hasino Ke Jalve Pareshan Rehte Song Lyrics

1 332
Hasino Ke Jalve Pareshan Rehte Song
Hasino Ke Jalve Pareshan Rehte Song Lyrics

Hasino Ke Jalve Pareshan Rehte Agar Hum Na Hote Song Lyrics from Movie Babar (1962). This Song sung by Mohammad Rafi, Asha Bhosle, Manna Dey, Sudha Malhotra. Music given by Roshan and lyrics by Sahir Ludhianvi. Star Casting of this movie are Gajanan Jagirdar, Azra, Shobha Khote, Sulochana Choudhary.

Movie Details

Movie: Babar

Singer/Singers: Mohammad Rafi, Asha Bhosle, Manna Dey, Sudha Malhotra

Music Director: Roshan

Lyricist: Sahir Ludhianvi

Actors/Actresses: Gajanan Jagirdar, Azra, Shobha Khote, Sulochana Choudhary

Year/Decade: 1962

Music Label: Saregama Music

Song Lyrics in English Text

Hasino Ke Jalwe Pareshan Rahte
Hasino Ke Jalwe Pareshan Rahte
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Hasino Ke Jalwe
Mohabbat Se Tum Log Anjan Rahte
Mohabbat Se Tum Log Anjan Rahte
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Mohabbat Se Tum Log Anjan Rahte

Hami Ne Tumhe Jane Mahfil Banaya
Nigaho Me Tulne Ke Kabil Banaya
Hami Ne Sikhaya Tumhe War Karna
Huye Katl Or Tumko Katil Banaya
Huye Katl Or Tumko Katil Banaya
Ye Sab Nazo Bejan Rahte, Bejan Rahte
Ye Sab Nazo Bejan Rahte
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Agar Hum Na Hote
Hasino Ke Jalwe Pareshan Rahte

Hami Ne Tumhe Pyar Ki Roshni Di
Jo Aachal Se Chalki Wo Chandani Di
Najar Se Jawani Ki Shabnam Luta Ke
Tamanna Ke Har Phul Ko Tajgi Di
Tamanna Ke Har Phul Ko Tajgi Di
Chamak Aarzuo Ke Viran Rahte, Viran Rahte
Chamak Aarzuo Ke Viran Rahte
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote

Tumhe Hamne Jadu Bhare Khwab Bakshe
Andheri Fizao Ko Mahtab Bakshe
Junu Ko Wafa Ka Salika Sikhaya
Dilo Ko Dhadkane Ke Aadab Bakshe
Dilo Ko Dhadkane Ke Aadab Bakshe
Ye Nadan Dil Yuhi Nadan Rahte, Nadan Rahte
Ye Nadan Dil Yuhi Nadan Rahte
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Mohabbat Se Tum Log Anjan Rahte

Jawa Bajuo Ko Lachak Hamne Di Hai
Hasi Chudio Ko Khanak Di Hai
Hami Ne Bhara Loch Angadayi Me
Tumhe Bijliyo Ki Chamak Hamne Di Hai
Tumhe Bijliyo Ki Chamak Hamne Di Hai
Tum Is Husn Par Khud Pasheman Rahte, Pasheman Rahte
Tum Is Husn Par Khud Pasheman Rahte
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Hasino Ke Jalwe Pareshan Rahte

Dua Do Ke Tumko Mohabbat Sikha Di
Murabbat Ki Khatir Sarafar Sikha Di
Hami Ne Tumhe Dhange Tahzib Baksha
Hami Ne Tumhe Aadmiyat Sikha Di
Hami Ne Tumhe Aadmiyat Sikha Di
Jamane Me Wahsat Ke Saman Rahte, Saman Rahte
Jamane Me Wahsat Ke Saman Rahte
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Agar Hum Na Hote, Agar Hum Na Hote
Mohabbat Se Tum Log

Song Lyrics in Hindi Font

हसीनों के जलवे परेशान रहते
आए
हसीनों के जलवे परेशान रहते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
हसीनों के जलवे
आए
मुहब्बत से तुम लोग अनजान रहते
आए
मुहब्बत से तुम लोग अनजान रहते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
मुहब्बत से तुम लोग अनजान रहते

हमीं ने तुम्हे जाने महफ़िल बनाया
निगाहों ने खुलने के काबिल बनाया
हमीं ने सिखाया तुम्हे वार करना
हुए क़त्ल और तुमको क़ातिल बनाया
हुए क़त्ल और तुमको क़ातिल बनाया
ये सब नाज़ो अन्दाज़ बेजां रहते
बेजान रहते ो
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
हसीनों के जलवे परेशान रहते

आए
हमीने तुम्हे प्यार की रौशनी दी
जो आँचल से छनती है वो चांदनी दी
नज़र से जवानी की शबनम लुटाके
तमाना के हर फूल को ताज़गी दी
तमाना के हर फूल को ताज़गी दी
चमन आरज़ूओं के वीरन रहते
वीरान रहते
हाँ
चमन आरज़ूओं के वीरन रहते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते

अगर हम न होते तो क्या बात बनती
स्याह ज़ुल्फ़ कैसे हसीरा उगलती
अगर हम न छाहट के कसीदे लुटाते
खुदा किस तरह हुस्न की बात बनती
खुदा किस तरह हुस्न की बात बनती
बुतों को खुदाई के अरमान रहते
अरमान रहते हैं
बुतों को खुदाई के अरमान रहते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
हसीनों के जलवे परेशान रहते

आए
तुम्हे हमने जादू भरे ख्वाब बक्शे
अँधेरी फ़िज़ाओं को महताब बक्शे
दिलों को वफ़ा का सलीका सिखाया
दिलों को धड़कने के आदाब बक्शे
दिलों को धड़कने के आदाब बक्शे
ये नादाँ दिल यूँ ही नादाँ रहते
नादाँ रहते हैं
ये नादान दिल यूँ ही नादान रहते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
मुहब्बत से तुम लोग अनजान रहते
जवान बाजुओं को लचक हमने दी है
हसीं चूड़ियों को खनक हमने दी है
हमीं ने भरा लोच इन(?) आईनों में
तुम्हे बिजलियों की चमक हमने दी है
तुम्हे बिजलियों की चमक हमने दी है
तुम इस हुस्न पर खुद पशेमान रहते
पशेमान रहते हैं
तुम इस हुस्न पर खुद पशेमान रहते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
हसीनों के जलवे परेशान रहते

आए
दुआ दो के तुमको मुहब्बत सिखादि
मुरव्वत सिखादि शराफत सिखा दी
हमीं ने तुम्हे ढंगे तहज़ीब बक्शा
हमीं ने तुम्हे आदमियत सिखादि
हमीं ने तुम्हे आदमियत सिखादि
ज़माने में वहशत के सामान रहते
सामान रहते हैं
ज़माने में वहशत के सामान रहते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
अगर हम न होते
मुहब्बत से तुम लोग.

Note: For any mistake in Lyrics kindly let us know !!

1 Comment
  1. ASHWANI SHARMA says

    There are a few errors. I am giving correct lyrics of entire Qawwali. You can make necessary corrections. Thanks
    हसीनों के जलवे परेशान रहते :
    हसीनों के जलवे परेशान रहते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    हसीनों के जलवे परेशान रहते
    मोहब्बत से तुम लोग अनजान रहते
    मोहब्बत से तुम लोग अनजान रहते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    मोहब्बत से तुम लोग अनजान रहते

    हमीं ने तुम्हें जान-ए-महफ़िल बनाया
    निगाहों में तुलने के क़ाबिल बनाया
    हमीं ने सिखाया तुम्हें वार करना
    हुए क़त्ल और तुमको क़ातिल बनाया
    हुए क़त्ल और तुमको क़ातिल बनाया
    यह सब नाज़-ओ-अंदाज़ बेजान रहते, बेजान रहते
    यह सब नाज़-ओ-अंदाज़ बेजान रहते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    हसीनों के जलवे परेशान रहते

    हमीं ने तुम्हें प्यार की रौशनी दी
    जो आँचल से छनकी है, वोह चांदनी दी
    नज़र से जवानी की शबनम लुटा के
    तमन्ना के हर फूल को ताज़गी दी
    तमन्ना के हर फूल को ताज़गी दी
    चमन आरज़ूओं के वीरान रहते, वीरान रहते
    चमन आरज़ूओं के वीरान रहते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !

    अगर हम ना होते तो क्या बात बनती
    सिआह ज़ुल्फ़ कैसे हसीं रात बनती
    अगर हम ना चाहत के सजदे लुटाते
    खुदा किस तरह हुस्न की ज़ात बनती
    खुदा किस तरह हुस्न की ज़ात बनती
    बुत्तों को ख़ुदाई के अरमान रहते , अरमान रहते
    बुत्तों को ख़ुदाई के अरमान रहते
    अगर हम ना होते , अगर हम ना होते
    हसीनों के जलवे परेशान रहते

    तुम्हें हमने जादू भरे ख्वाब बख्शे
    अँधेरी फ़िज़ाओं को माहताब बख्शे
    जुनूँ को वफ़ा का सलीक़ा सिखाया
    दिलों को धड़कने के आदाब बख्शे
    दिलों को धड़कने के आदाब बख्शे
    यह नादान दिल यूँही नादान रहते, नादान रहते
    यह नादान दिल यूँही नादान रहते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते !
    मोहब्बत से तुम लोग अनजान रहते

    जवां बाज़ूओं को लचक हमने दी है
    हंसी चूड़ीयों को खनक हमने दी है
    हमीं ने भरा लोच अंगड़ाइयों में
    तुम्हें बिजलियों की चमक हमने दी है
    तुम्हें बिजलियों की चमक हमने दी है
    तुम इस हुस्न पर खुद पशेमान रहते, पशेमान रहते
    तुम इस हुस्न पर खुद पशेमान रहते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते
    हसीनों के जलवे परेशान रहते

    दुआ दो के तुमको मोहब्बत सीखा दी
    मुरव्वत सीखा दी शराफत सीखा दी
    हमीं ने तुम्हें ढंग-ए-तहज़ीब बख्शा
    हमीं ने तुम्हें आदमीयत सीखा दी
    हमीं ने तुम्हें आदमीयत सीखा दी
    ज़माने में वेह्शत के सामान रहते, सामान रहते
    ज़माने में वेह्शत के सामान रहते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते
    अगर हम न होते ! अगर हम न होते

Leave A Reply

Your email address will not be published.