Take a fresh look at your lifestyle.

Do Pal Ruka Khwabon Song Lyrics

0 1,940
Do Pal Ruka Khwabon
Do Pal Ruka Khwabon Song

Do Pal Ka lyrics in Hindi from movie Veer Zaara sung by Lata Mangeshkar, Sonu Nigam. The song is written by Javed Akhtar and music composed by Madan Mohan. Starring Shahrukh Khan, Preity Zinta.

Movie Details

Movie: Veer Zaara

Singer/Singers: Sonu Nigam, Udit Narayan

Music Director: Madan Mohan

Lyricist: Javed Akhtar

Actors/Actresses: Amitabh Bachchan, Hema Malini, Shahrukh Khan, Preity Zinta,

Year/Decade: 2004

Music Label: Yash Raj Films

Song Lyrics in English Text

Do, Pal Ruka, Khwaabo Ka Karwa
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha
Do Pal Ki Thi, Ye Dilo Ki Dasta
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha

Tum The Ke Thi Koi Ujli Kiran
Tum The Ya Koi Kali Muskayi Thi
Tum The Ya Tha Sapno Ka Tha Sawan
Tum The Ke Khushiyo Ki Ghata Chhayi Thi
Tum The Ke Tha Koi Phool Khila
Tum The Ya Mila Tha Mujhe Naya Jahaan
Do Pal Ruka Khwabo Ka Karwa
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha Ham Kaha
Do Pal Ki Thi, Ye Dilo Ki Dasta
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha

Tum The Ya Khushbu Hawao Me Thi
Tum The Ya Rang Sari Dishao Me The
Tum The Ya Roshni Raaho Me Thi
Tum The Ya Geet Gunje Fizaao Me The
Tum The Mile Ya Mili Thi Manzile
Tum The Ke Tha Jaadu Bhara Koi Sama
Do Pal Ruka, Khwaabo Ka Karwa
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha
Do Pal Ki Thi, Ye Dilo Ki Dasta
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha
Aur Phir Chal Diye, Tum Kaha, Ham Kaha

Song Lyrics in Hindi Font

दो पल रुका खवाबों का कारवां
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ
दो पल की थी ये दिलों की दास्ताँ
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ..
तुम थे की थी कोई उजली किरण
तुम थे या कोई कलि मुस्काई थी
तुम थे या था सपनों का था सावन
तुम थे की खुशियों की घटा छायी थी
तुम थे के था कोई फूल खिला
तुम थे या मिला था मुझे नया जहां
दो पल रुका खवाबों का कारवाँ
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ

दो पल की थी ये दिलों की दास्ताँ
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ..

आ आ.. आ…

तुम थे या ख़ुशबू हवाओं में थी
तुम थे या रंग सारी दिशाओं में थे
तुम थे या रौशनी राहों में थी
तुम थे या गीत गूंजे फिजाओं में थे
तुम थे मिले या मिली थी मंजिलें
तुम थे के था जादू भरा कोई समां
दो पल रुका खवाबों का कारवां

और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ
दो पल की थी ये दिलों की दास्ताँ

और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ
और फिर चल दिए तुम कहाँ हम कहाँ

Note: For any mistake in Lyrics kindly let us know !!

Leave A Reply

Your email address will not be published.