Take a fresh look at your lifestyle.

Aati Hai Raat Odhe Hue Dard Ka Kafan Lyrics

0 503

Aati Hai Raat Odhe Hue Dard Ka Kafan Lyrics

Song Lyrics from the album Bewafa Sanam Vol. 1 (Album) starring. The film was released in the year 1995. Music was composed by Nikhil and lyrics were penned by Attaullah Khan.

Movie Details

Movie: Bewafa Sanam Vol. 1 (Album)

Singer/Singers: Abhijeet

Music Director: Nikhil

Lyricist: Attaullah Khan

Actors/Actresses: N/A

Year/Decade: 1995

Music Label: T-Series

Song Lyrics in English Text

Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan
Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan
Jalim Teri Nigah Se Jalta Gaya Kafan
Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan
Jalim Teri Nigah Se Jalta Gaya Kafan
Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan
Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan

Kis Kis Ko Main Dikhau Bata Apne Dil Ke Gam
Kis Kis Ko Main Dikhau Bata Apne Dil Ke Gam
Pehne Huye Hai Sab Hi Yaha Maut Ka Kafan
Pehne Huye Hai Sab Hi Yaha Maut Ka Kafan
Jalim Teri Nigah Se Jalta Gaya Kafan
Ati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan

Aaye Na Raas Hamko Teri Dosti Ke Phul
Aaye Na Raas Hamko Teri Dosti Ke Phul
Kaate Chaman Ke Banane Lage Phir Mera Kafan
Kaate Chaman Ke Banane Lage Phir Mera Kafan
Jalim Teri Nigah Se Jalta Gaya Kafan
Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan

Ye Julm Ye Sitam Ye Dilo Ki Adawate
Ye Julm Ye Sitam Ye Dilo Ki Adawate
Kehte Hai Inko Log Yaha Bolta Kafan
Kehte Hai Inko Log Yaha Bolta Kafan
Jalim Teri Nigah Se Jalta Gaya Kafan
Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan
Jalim Teri Nigah Se Jalta Gaya Kafan
Aati Hai Raat Odhe Huye Dard Ka Kafan

Song Lyrics in Hindi Font/Text

आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न
आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न
ज़ालिम तेरी निगाह से जलता गया कफ़न
आती है रात ोड्डे हुए दर्द का कफ़न
ज़ालिम तेरी निगाह से जलता गया कफ़न
आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न
आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न

किस किस को मई दिखाऊ बता अपने दिल के गम
किस किस को मई दिखाऊ बता अपने दिल के गम
पहने हुए है सब ही यहाँ मौत का कफन
पहने हुए है सब ही यहाँ मौत का कफन
ज़ालिम तेरी निगाह से जलता गया कफ़न
आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न

ए न रास हमको तेरी दोस्ती के फूल
ए न रास हमको तेरी दोस्ती के फूल
कटे चमन के बन्ने लगे फिर मेरा कफ़न
कटे चमन के बन्ने लगे फिर मेरा कफ़न
ज़ालिम तेरी निगाह से जलता गया कफ़न
आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न

ये जुल्म ये सितम ये दिलो की अदावते
ये जुल्म ये सितम ये दिलो की अदावते
कहते है इनको लोग यहाँ बोलता कफ़न
कहते है इनको लोग यहाँ बोलता कफ़न
ज़ालिम तेरी निगाह से जलता गया कफ़न
आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न
ज़ालिम तेरी निगाह से जलता गया कफ़न
आती है रात ओढ़े हुए दर्द का कफ़न

Leave A Reply

Your email address will not be published.